Search
  • Pihu Mukherjee

मेगास्टार आज़ाद "द ग्रेट पेट्रीयट" के साथ विलायत रवाना |


५ फ़रवरी,२०२० को मेगास्टार आज़ाद अपनी नवीनतम सिनेमाई कृति द ग्रेट पेट्रीयट के साथ लंदन रवाना हो गए । द ग्रेट पेट्रीयट मेगास्टार आज़ाद द्वारा रचित अंग्रेज़ी भाषा की फ़िल्म है।आज़ाद ने एक प्रेस वार्ता में घोषणा की कि द ग्रेट पेट्रीयट अंग्रेज़ी में बनी वैश्विक दर्शकों के लिए भारत की तरफ़ से एक मनोरंजक और रचनात्मक उपहार है ।

आज़ाद ने कहा कि उनकी यह कृति विश्व को नई दिशा देने के साथ ही पूरे विश्व को एक सूत्र में बाँधने का काम करेगी।आज विश्व अनेक खेमों में बँटा हुआ तीसरे विश्व युद्ध के कगार पे खड़ा है। तीसरे विश्व युद्ध अगर हुआ तो विश्व का समूल नाश होना तय है। भारत के वसुधैव कूटुम्बकम और न्याय के सिद्धांत की उद्घोषणा करनेवाली यह फ़िल्म विश्व दर्शकों को सह अस्तित्व का एक नया संसार दिखाएगी।

भारत में सैन्य विद्यालय के संस्थापक एवं प्रखर राष्ट्रवादी डॉक्टर बालकृष्ण शिवराम मूँजे को अपना आदर्श मानने वाले मेगास्टार आज़ाद ने नाशिक स्थित उसी भोंसला सैन्य विद्यालय से शिक्षा-दीक्षा प्राप्त की है जिसकी स्थापना स्वयं डॉक्टर बालकृष्ण शिवराम मूँजे ने किया था। सनातनी राष्ट्रवादी मेगास्टार आज़ाद ने इससे पहले राष्ट्रपुत्र जैसी राष्ट्रवादी और विचरोत्तेजक फ़िल्म के ज़रिए अपनी बहुमुखी प्रतिभा का परिचय दे चुके हैं। फ़्रान्स में आयोजित विश्व विख्यात ७२ वें फ़िल्म फ़ेस्टिवल में विश्व दर्शकों ने राष्ट्रपुत्र का भव्य प्रदर्शन देखा। आज़ाद की देवभाषा संस्कृत में बनी मुख्यधारा की फ़िल्म अहम ब्रह्मास्मि विश्व इतिहास की पहली घटना साबित हुई।आज़ाद ने अपनी कलात्मक और सृजनात्मक सिनेमाई यात्रा को विस्तार देते हुए उत्तर और दक्षिण भारत को संस्कृति के तल पर जोड़ने के उद्देश्य से तमिल भाषा में महानायकन का सृजन किया है जो कि बहुत जल्द रिलीज़ होनेवाली है।

अंग्रेज़ों ने भारत पर शासन किया,हमारा शोषण किया,अंग्रेज़ी थोपा,गुरुकुल पद्धति को नष्ट कर कॉन्वेंट शिक्षा व्यवस्था की शुरुआत की। ऋषि-संतति को मैकाले का मानस-पुत्र बनाने का षड्यंत्र रचा। चंद्रशेखर आज़ाद जैसे माँ भारती के सपूतों के पुरुषार्थ एवं द्वितीय विश्वयुद्ध के परिणाम के कारण अंग्रेज़ों को वापस जाना पड़ा। उन्हीं अंग्रेज़ों को उन्हीं की भाषा में राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाने चन्द्रशेखर आज़ाद के समगोत्रिय समधर्मी मेगास्टार आज़ाद द ग्रेट पेट्रीयट लेकर अपने दल-बल के साथ क़रीब दस घंटे की विमान यात्रा के बाद हिथ्रो एयर पोर्ट पर उतरे। आज़ाद पूरे योरोप में अपनी महत्वाकांक्षी फ़िल्म का वैश्विक प्रचार-प्रसार करेंगे। द ग्रेट पेट्रीयट को भव्यता और दिव्यता के साथ अंग्रेज़ी दर्शकों के निमित्त रिलीज़ करेंगे।

एक नया इतिहास लिखे जाने के लिए वक़्त करवट बदल रहा है।


0 views0 comments

1, Dube House, Borivali East, Mumbai

© 2019 by World Literature Organization

  • Facebook
  • Twitter
  • Instagram
  • Twitter Clean
  • White Facebook Icon